Saturday, January 23, 2021
होम खुला मंच

खुला मंच

राहुल का भूकंप, मोदी का भूकंप, खेल नैरेटिव का

राजीव रंजन झा : 

जब राहुल गांधी भूकंप शब्द का इस्तेमाल एक राजनीतिक संदेश देने के लिए करते हैं, तो यह असंवेदनशील नहीं होता है।

अमीरों को लेकर राहुल जी से चार सवाल

राजीव रंजन झा : 

विधानसभाओं के चुनाव अभियान के दरम्यान राहुल गांधी ने कहा कि नरेंद्र मोदी 50 अमीरों के लिए काम करते हैं। हो सकता है कि राहुल सच बोल रहे हों। इसलिए उनसे दरख्वास्त है कि वे जरा बतायें -

घेरेबंदी जैसी नोटबंदी और जाम में फँसे लोग

राजीव रंजन झा : 

नोटबंदी से लोग बहुत परेशान रहे, कुछ लोग पुलिस की घेरेबंदी से भी होते हैं। घेरेबंदी और नोटबंदी में बहुत फर्क है क्या!  

शोषक अमेरिका से शोषण करवाने की आतुरता

अमेरिका ने विदेशियों की आवाजाही पर जो रोक लगायी है, उस पर एक-लाइना चुटकी वरिष्ठ व्यंग्यकार आलोक पुराणिक की...

आपका दोहरापन सबको दिखने लगा है हुजूर!

राजीव रंजन झा : 

आपको शाहबानो की व्यथा दिखाई नहीं पड़ी थी, वैसे बड़े नारीवादी हैं। 

अब भी आपको तीन तलाक पर सर्वोच्च न्यायालय में मुकदमा लड़ रही मुस्लिम महिलाओं का दर्द नहीं दिखता, हालाँकि आज भी आपसे बड़ा नारीवादी कोई नहीं। 

ब्राह्मणों को छोड़ कर सबको आरक्षण!

राजीव रंजन झा :  वर्ण व्यवस्था के क्रम में ब्राह्मण सबसे ऊपर रखे गये थे, उनके बाद क्षत्रिय। खुद को क्षत्रिय कहने वाली बहुत-सी...

भाजपा के नेता सेट कर रहे बेटे-बेटियों को

राजीव रंजन झा : 

कांग्रेस में नेहरू जी के बाद कौन? इंदिरा जी। 

इंदिरा जी के बाद कौन? संजय जी। 

संजय जी की विमान दुर्घटना में मौत, अब कौन? राजीव जी।

राजीव जी के बाद कौन? सोनिया जी। 

सोनिया जी के बाद कौन? राहुल जी। 

राहुल जी नहीं चल रहे तो साथ में या विकल्प के रूप में कौन? प्रियंका जी। 

- Advertisment -

Most Read

बिहार चुनाव में क्या फिर पलटी मारेंगे उपेंद्र कुशवाहा?

संदीप त्रिपाठी : 

बिहार विधानसभा चुनाव से पूर्व महागठबंधन में नया घमासान शुरू हो गया है। महागठबंधन में राजद नेता तेजस्वी यादव को मुख्यमंत्री पद के चेहरे के रूप में पेश किये जाने पर महागठबंधन के दो सहयोगी दलों - राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) और विकासशील इंसान पार्टी (वीआईपी) ने आवाज उठायी है। 

महागठबंधन से मुकाबले से पूर्व एनडीए में अंदरूनी घमासान

संदीप त्रिपाठी : 

बिहार विधानसभा चुनाव के मद्देनजर एनडीए में जबरदस्त रार मची हुई है। बिहार में एनडीए में कुल चार दल भाजपा, जदयू, लोजपा और हम (हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा) हैं।

बिहार में महागठबंधन की छोटी पार्टियों की बड़बोली माँगें

संदीप त्रिपाठी

बिहार विधानसभा चुनाव में महागठबंधन में सीटों के बंटवारे पर सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है। दरअसल पिछले चुनाव में महागठबंधन का हिस्सा बन कर लड़ने वाली जदयू के गठबंधन से निकल जाने के बाद अब शेष बड़े दल राजद और कांग्रेस इस बार ज्यादा-से-ज्यादा सीटें अपने पास रखने के पक्ष में हैं।

कोरोना की लड़ाई तो हम तभी हार गये थे जब…

राजीव रंजन झा : 

कोरोना की श्रृंखला तोड़ने की लड़ाई हम उसी दिन हार गये थे, जब दिल्ली में हजारों-लाखों मजदूरों की भीड़ को उत्तर प्रदेश की बस चलने के नाम पर आनंद विहार में जुटा दिया गया था।