Monday, November 28, 2022
होम खुला मंच

खुला मंच

राहुल का भूकंप, मोदी का भूकंप, खेल नैरेटिव का

राजीव रंजन झा : 

जब राहुल गांधी भूकंप शब्द का इस्तेमाल एक राजनीतिक संदेश देने के लिए करते हैं, तो यह असंवेदनशील नहीं होता है।

अमीरों को लेकर राहुल जी से चार सवाल

राजीव रंजन झा : 

विधानसभाओं के चुनाव अभियान के दरम्यान राहुल गांधी ने कहा कि नरेंद्र मोदी 50 अमीरों के लिए काम करते हैं। हो सकता है कि राहुल सच बोल रहे हों। इसलिए उनसे दरख्वास्त है कि वे जरा बतायें -

घेरेबंदी जैसी नोटबंदी और जाम में फँसे लोग

राजीव रंजन झा : 

नोटबंदी से लोग बहुत परेशान रहे, कुछ लोग पुलिस की घेरेबंदी से भी होते हैं। घेरेबंदी और नोटबंदी में बहुत फर्क है क्या!  

शोषक अमेरिका से शोषण करवाने की आतुरता

अमेरिका ने विदेशियों की आवाजाही पर जो रोक लगायी है, उस पर एक-लाइना चुटकी वरिष्ठ व्यंग्यकार आलोक पुराणिक की...

आपका दोहरापन सबको दिखने लगा है हुजूर!

राजीव रंजन झा : 

आपको शाहबानो की व्यथा दिखाई नहीं पड़ी थी, वैसे बड़े नारीवादी हैं। 

अब भी आपको तीन तलाक पर सर्वोच्च न्यायालय में मुकदमा लड़ रही मुस्लिम महिलाओं का दर्द नहीं दिखता, हालाँकि आज भी आपसे बड़ा नारीवादी कोई नहीं। 

ब्राह्मणों को छोड़ कर सबको आरक्षण!

राजीव रंजन झा :  वर्ण व्यवस्था के क्रम में ब्राह्मण सबसे ऊपर रखे गये थे, उनके बाद क्षत्रिय। खुद को क्षत्रिय कहने वाली बहुत-सी...

भाजपा के नेता सेट कर रहे बेटे-बेटियों को

राजीव रंजन झा : 

कांग्रेस में नेहरू जी के बाद कौन? इंदिरा जी। 

इंदिरा जी के बाद कौन? संजय जी। 

संजय जी की विमान दुर्घटना में मौत, अब कौन? राजीव जी।

राजीव जी के बाद कौन? सोनिया जी। 

सोनिया जी के बाद कौन? राहुल जी। 

राहुल जी नहीं चल रहे तो साथ में या विकल्प के रूप में कौन? प्रियंका जी। 

- Advertisment -

Most Read

शमशेरा : हिंदू घृणा और वामपंथी एजेंडा से भरी फिल्म को दर्शकों ने नकार दिया

शमशेरा हिंदू घृणा से सनी ऐसी फिल्म है, जिसका साहित्य में परीक्षण हुआ, जैसा कि फर्स्ट पोस्ट आदि पर आयी समीक्षाओं से पता चलता है, और फिर बाद में परदे पर उतारा गया। परंतु जैसे साहित्य में फर्जी विमर्श को रद्दी में फेंक कर जनता ने नरेंद्र कोहली को सिरमौर चुना था, वैसे ही अब उसने आरआरआर एवं कश्मीर फाइल्स जैसी फिल्मों को चुन लिया है और शमशेरा को गड्ढे में फेंक दिया है!

नेशनल हेराल्ड मामले का फैसला आ सकता है लोकसभा चुनाव से पहले

ईडी ने तो एक तरह से मामले को छोड़ दिया था। ईडी की पकड़ में यह मामला तब आया, जब कोलकाता में हवाला कारोबार करने वाली एक शेल कंपनी के यहाँ एजेएल और यंग इंडिया की हवाला लेन-देन की प्रविष्टि (एंट्री) मिली, और उसके तार ईडी की जाँच में गांधी परिवार तक गये। इसलिए गांधी परिवार से पूछताछ के बिना चार्जशीट दाखिल नहीं हो सकती है। राहुल गांधी और मल्लिकार्जुन खड़गे से पूछताछ हो चुकी है और अब सोनिया गांधी से पूछताछ हो रही है।

पाकिस्तान में बढ़ती शर्मनाक घटनाएँ, फिर भी पश्चिमी देशों का दुलारा पाकिस्तान

अमेरिका की एक व्लॉगर पाकिस्तान में विषय में वीडियो बनाती थी। उसके साथ सामूहिक बलात्कार हुआ है और बलात्कार करने वाले उसके अपने वही दो दोस्त हैं, जिनके बुलावे पर वह पाकिस्तान आयी।

लिबरल खेमा वैश्विक उथल-पुथल से प्रफुल्लित क्यों है?

उनके हर्ष का विषय तीन वैश्विक घटनाएँ हैं। पहली है यूके के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन का इस्तीफा, दूसरी घटना है जापान के पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो आबे की हत्या और तीसरी सबसे महत्वपूर्ण घटना है श्रीलंका का दीवालिया होना और राष्ट्रपति आवास पर आम जनता का नियंत्रण होना!
Cart
  • No products in the cart.