Saturday, July 24, 2021
होम खुला मंच

खुला मंच

राहुल का भूकंप, मोदी का भूकंप, खेल नैरेटिव का

राजीव रंजन झा : 

जब राहुल गांधी भूकंप शब्द का इस्तेमाल एक राजनीतिक संदेश देने के लिए करते हैं, तो यह असंवेदनशील नहीं होता है।

अमीरों को लेकर राहुल जी से चार सवाल

राजीव रंजन झा : 

विधानसभाओं के चुनाव अभियान के दरम्यान राहुल गांधी ने कहा कि नरेंद्र मोदी 50 अमीरों के लिए काम करते हैं। हो सकता है कि राहुल सच बोल रहे हों। इसलिए उनसे दरख्वास्त है कि वे जरा बतायें -

घेरेबंदी जैसी नोटबंदी और जाम में फँसे लोग

राजीव रंजन झा : 

नोटबंदी से लोग बहुत परेशान रहे, कुछ लोग पुलिस की घेरेबंदी से भी होते हैं। घेरेबंदी और नोटबंदी में बहुत फर्क है क्या!  

शोषक अमेरिका से शोषण करवाने की आतुरता

अमेरिका ने विदेशियों की आवाजाही पर जो रोक लगायी है, उस पर एक-लाइना चुटकी वरिष्ठ व्यंग्यकार आलोक पुराणिक की...

आपका दोहरापन सबको दिखने लगा है हुजूर!

राजीव रंजन झा : 

आपको शाहबानो की व्यथा दिखाई नहीं पड़ी थी, वैसे बड़े नारीवादी हैं। 

अब भी आपको तीन तलाक पर सर्वोच्च न्यायालय में मुकदमा लड़ रही मुस्लिम महिलाओं का दर्द नहीं दिखता, हालाँकि आज भी आपसे बड़ा नारीवादी कोई नहीं। 

ब्राह्मणों को छोड़ कर सबको आरक्षण!

राजीव रंजन झा :  वर्ण व्यवस्था के क्रम में ब्राह्मण सबसे ऊपर रखे गये थे, उनके बाद क्षत्रिय। खुद को क्षत्रिय कहने वाली बहुत-सी...

भाजपा के नेता सेट कर रहे बेटे-बेटियों को

राजीव रंजन झा : 

कांग्रेस में नेहरू जी के बाद कौन? इंदिरा जी। 

इंदिरा जी के बाद कौन? संजय जी। 

संजय जी की विमान दुर्घटना में मौत, अब कौन? राजीव जी।

राजीव जी के बाद कौन? सोनिया जी। 

सोनिया जी के बाद कौन? राहुल जी। 

राहुल जी नहीं चल रहे तो साथ में या विकल्प के रूप में कौन? प्रियंका जी। 

- Advertisment -

Most Read

फिर से चर्च में यौन स्कैंडल और फिर से चुप्पी!

हालाँकि अब निथिराविलाई पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज हो गया है और आरोपी जेल में है। यह ठीक है कि मामला दर्ज हो गया है, पर प्रगतिशीलों की वाल पर शांति है। मंदिर के भक्त की किसी गलत हरकत पर मंदिर को कोसने वाली प्रगतिशील जमात पादरी के ही सेक्स स्कैंडल में पकडे जाने पर चुप है, कोई हल्ला नहीं है।

चीन की सख्ती से बेदम बिटकॉइन

चीन ने अपने यहाँ क्रिप्टोकरेंसी माइनिंग को रोकने के लिए सख्त कदम उठाये हैं। अभी बुधवार 14 जुलाई को ही चीन के आनहुई प्रांत में क्रिप्टो-माइनिंग को रोकने के लिए बहुत व्यापक घोषणा की गयी है। दरअसल क्रिप्टो-माइनिंग में बिजली की खपत बहुत अधिक होती है, जिसके चलते चीन ने यह सख्ती की है।

भारत का कानून न मानने की औपनिवेशिक जिद

कार्ल रॉक एक विदेशी है, जो टूरिस्ट वीजा पर भारत आया था। उसने हरियाणा में शायद एक राजनीतिक परिवार में शादी की है। वह यहाँ वीडियो बना कर यूट्यूब पर डाल करके पैसे भी कमा रहा है। पर वह एक और काम कर रहा था। वह भारत की चुनी हुई सरकार का विरोध कर रहा था।

मनसुख मांडविया की अंग्रेजी का उपहास करती गुलाम मानसिकता

औपनिवेशिक मानसिकता उन लोगों की है, जो केवल अंग्रेजी भाषा की जानकारी को ही ज्ञान का पर्याय मानते हैं। वे दरअसल ईसाई मानसिकता से बाहर नहीं आ पाये हैं, स्वतंत्र नहीं हो पाये हैं। वे इस बात को स्वीकार कर ही नहीं पाये हैं कि देशज भाषा भी शासन का पर्याय हो सकती है।
Cart
  • No products in the cart.