आवेश तिवारी, पत्रकार :

अगर भोपाल में मुठभेड़ में मारे गए आतंकियों की करतूतों को लिखना शुरू करूँ तो एक पूरा उपन्यास बन जायेगा। कुछ मित्रों का कहना है कि किसी अंडरट्रायल को आतंकी घोषित कैसे किया जा सकता हैबिल्कुल किया जा सकता है।

कोई जुर्म बार-बार किया जाये तो वह कैसे बर्दाश्त किया जा सकता है? खैर, मातमपुर्सी करने वालों एक जानकारी और ले लो। जो मारे गये उनमे से एक को तो दो साल पहले खुद खुदा ने सजा दे दी थी। खुदा की सजा पर अंगुली कौन उठायेगा?

भोपाल में मारे गये आतंकियों में से चार लोग दूसरी बार जेल से फरार हुए थे। अक्टूबर 2013 में खंडवा में जेल से भागने के बाद इन्होंने कुल 17 वारदातों को अंजाम दिया। छह लोग इन वारदातों में मारे गये थे। दुस्साहस यह कि इस साल 17 फरवरी को ही राउरकेला में ये पकडे गये थे, लेकिन पकड़े जाने के एक साल के भीतर ही ये दोबारा जेल से भाग निकले।

महबूब उर्फ़ गुड्डू जो कल भोपाल की मुठभेड़ में मारा गया, वह नये तरीके के बम बनाने में माहिर था। यूपी के बिजनौर में बम बनाते वक्त हुए विस्फोट में वह बुरी तरह से जल गया था। आश्चर्यजनक है कि पटना के गांधी मैदान और चेन्नई सेंट्रल रेलवे स्टेशन पर विस्फोट में जो बम इस्तेमाल किये गये, वे दोनों एक जैसे थे और उनको बनाने के पीछे महबूब का ही हाथ था।

भोपाल मुठभेड़ में मारे गये आतंकियों में से एक ने लंबे अरसे तक अपना नाम विनय कुमार रख रखा था। मजेदार बात यह है कि करीमगंज में हुई एक लूट के बाद पुलिस ने इसी नाम से मुकदमा भी दर्ज कर दिया। एक अन्य आतंकी मोहम्मद सालेक भेष बदलने में माहिर था, कहें तो पूरा बहुरूपिया।

जो लोग मुठभेड़ में मारे गये सिमी आतंकियों को लेकर टेसुए बहा रहे हैं, उन्हें उत्तर प्रदेश के बलिया में उस हेड कांस्टेबल रमाशंकर यादव के घर एक बार जरूर जाना चाहिए, जहाँ उसकी बेटी की शादी होने वाली थी। या फिर उस महिला साफ्टवेयर इंजिनियर के घर जिसे दो साल पहले इन्हीं लोगों ने बम से उड़ा दिया था, जिसे पता भी न चला कि उसे किस बात की सजा मिली। वह तो अपनी माँ की अकेली बिटिया थी।

स्वाति परुचुरि टाटा कंसल्टेंसी में साफ्टवेयर इंजीनियर थी। पापा किसान, माँ शिक्षिका। अपने बचपन के दोस्त से ही शादी करने वाली थी। फिर मई 2014 में एक दिन जब वह बंगलौर-गुवाहाटी (काजीरंगा) एक्सप्रेस से लौट रही थी, तो भोपाल में मारे गए आतंकियों में शामिल महबूब, जाकिर, अमजद और उसके साथियों ने उसमें धमाका करा दिया और 22 साल की स्वाति मारी गयी। अब चेन्नई में रेल कर्मचारी मई दिवस के अगले दिन स्वाति दिवस मनाते हैं। उस दिन एक बेटी ही नहीं मारी गयी थी, उसकी आँखों में बसे सपने भी उसके साथ मारे गये थे।

वर्ष 2009 से 2012 तक देश में फर्जी मुठभेड़ों के 555 मामले मानवाधिकार आयोग के सामने आये। इनमें से सर्वाधिक 138 मामले उत्तर प्रदेश से थे, जहाँ उस वक्त मायावती की सरकार थी। राजस्थान में 33, महाराष्ट्र में 21, मणिपुर में 62 और असम में 52 लोग फर्जी मुठभेड़ों में मारे गये। तब इन राज्यों में भी भाजपा की सरकार नहीं थीं। दरअसल मुठभेड़ पुलिस के चरित्र का हिस्सा है, सत्ता के पास निर्णय लेने का साहस कहाँ होता है।

(देश मंथन, 01 नवंबर 2016)

Leave a comment

रवीश कुमार, वरिष्ठ टेलीविजन एंकर : "लालू जिंदा हो गया है। सब बोलते थे कि लालू खत्म हो गया। देखो ...

रवीश कुमार, वरिष्ठ टेलीविजन एंकर : "एक बार आप माउंट एवरेस्ट पर पहुँच जाते हैं तो उसके बाद उतरने ...

पुण्य प्रसून बाजपेयी, कार्यकारी संपादक, आजतक : 'भागवत कथा' के नायक मोदी यूँ ही नहीं बने। क्या ...

डॉ वेद प्रताप वैदिक, राजनीतिक विश्लेषक : चार राज्यों में हुए उपचुनावों में भाजपा की वैसी दुर्गति ...

उमाशंकर सिंह, एसोसिएट एडिटर, एनडीटीवी प्रधानमंत्री ने आज ही सांसद आदर्श ग्राम योजना की शुरुआत की ...

क़मर वहीद नक़वी, वरिष्ठ पत्रकार : सुना है, सरकार काला धन ढूँढ रही है। उम्मीद रखिए! एक न एक दिन ...

क़मर वहीद नक़वी, वरिष्ठ पत्रकार : तो झाड़ू अब ‘लेटेस्ट’ फैशन है! बड़े-बड़े लोग एक अदना-सी झाड़ू के ...

क़मर वहीद नक़वी, वरिष्ठ पत्रकार : राजनीति से इतिहास बनता है! लेकिन जरूरी नहीं कि इतिहास से राजनीति ...

पुण्य प्रसून बाजपेयी, कार्यकारी संपादक, आजतक : सोने का पिंजरा बनाने के विकास मॉडल को सलाम .. एक ...

रवीश कुमार, वरिष्ठ टेलीविजन एंकर : आखिर कौन नहीं चाहता था कि कांग्रेस हारे। सीएजी रिपोर्ट और ...

अभिरंजन कुमार : बनारस में भारत माता के दो सच्चे सपूतों नरेंद्र मोदी और अरविंद केजरीवाल के बीच ...

देश मंथन डेस्क यह महज संयोग है या नरेंद्र मोदी और उनकी टीम का सोचा-समझा प्रचार, कहना मुश्किल है। ...

पुण्य प्रसून बाजपेयी, कार्यकारी संपादक, आजतक : 1952 में मौलाना अब्दुल कलाम आजाद को जब नेहरु ने ...

देश मंथन डेस्क : कांग्रेस की डिजिटल टीम ने चुनाव प्रचार के लिए अब ईमेल का सहारा लिया है, हालाँकि ...

दीपक शर्मा, वरिष्ठ पत्रकार : कांग्रेस, सपा, बसपा, जेडीयू, आप... सभी मुस्लिम वोट बैंक की लड़ाई लड़ ...

रवीश कुमार, वरिष्ठ टेलीविजन एंकर : बनारस इस चुनाव का मनोरंजन केंद्र बन गया है। बनारस से ऐसा क्या ...

रवीश कुमार, वरिष्ठ टेलीविजन एंकर : जिसने भी बनारस के चुनाव को अपनी आँखों से नहीं देखा उसने इस ...

संजय सिन्हा, संपादक, आजतक : राजा ने सभी दरबारियों को एक-एक बिल्ली और एक-एक गाय दी। सबसे कहा कि ...

विद्युत प्रकाश मौर्य, वरिष्ठ पत्रकार : मुगल बादशाह औरंगजेब ऐसा शासक रहा है, जिसका इतिहास में ...

विद्युत प्रकाश :  देश भर में सुबह के नास्ते का अलग अलग रिवाज है। जब आप झारखंड के शहरों में ...

संजय सिन्हा, संपादक, आजतक : मैं कभी सोते हुए बच्चे को चुम्मा नहीं लेता। मुझे पता है कि सोते हुए ...

विद्युत प्रकाश मौर्य, वरिष्ठ पत्रकार :  भेंट द्वारका नगरी द्वारका से 35 किलोमीटर आगे है। यहाँ ...

विद्युत प्रकाश मौर्य, वरिष्ठ पत्रकार :  रेलवे स्टीमर के अलावा पटना और पहलेजा घाट के बीच लोगों के ...

आलोक पुराणिक, व्यंग्यकार : अमेरिका के अखबार वाल स्ट्रीट जनरल ने रॉबर्ट वाड्रा की जमीन की बात की ...

लोकप्रिय मैसेजिंग सेवा व्हाट्सऐप्प का इस्तेमाल अब पर्सनल कंप्यूटर या लैपटॉप पर भी इंटरनेट के माध्यम ...

सोनी (Sony) ने एक्सपीरिया (Xperia) श्रेणी में नया स्मार्टफोन बाजार में पेश किया है।

लावा (Lava) ने भारतीय बाजार में अपना नया स्मार्टफोन पेश किया है।

      लेनोवो (Lenovo) ने एस सीरीज में नया स्मार्टफोन पेश किया है। 

इंटेक्स (Intex) ने बाजार में नया स्मार्टफोन पेश किया है।

स्पाइस (Spice) ने स्टेलर (Stellar) सीरीज के तहत बाजार में अपना नया स्मार्टफोन पेश किया है।

जोलो ने अपना नया स्मार्टफोन पेश किया है। जोलो क्यू 1011 स्मार्टफोन मं 5 इंच की आईपीएस स्क्रीन लगी ...

एचटीसी ने भारतीय बाजार में दो नये स्मार्टफोन पेश किये हैं। कंपनी ने डिजायर 616 और एचटीसी वन ई8 ...